Friday, 17 March 2017

नोटबंदी का पॉजिटिव असर हुआ: सिटीबैंक !!

सिटीबैंक इंडिया के कन्ज़्यूमर बैंकिंग हेड कार्तिक कौशिक का कहना है कि बैंक रिटेल लोन बिजनस को बढ़ाने और क्लाइंट्स हासिल करने में ज्यादा रिस्क ले रहे हैं। सलोनी शुक्ला को दिए इंटरव्यू में कौशिक ने कहा कि बैंक की इंडिया में ग्रोथ इसकी फिजिकल मौजूदगी पर टिकी हुई नहीं है। उन्होंने कहा कि ग्रोथ का अगला फेज डिजिटल से आएगा। पेश हैं इंटरव्यू के अंश:

ज्यादातर बैंकों का फोकस अभी रिटेल सेगमेंट पर है। क्या नए कस्टमर्स हासिल करने में दिक्कत हो रही है?
मुझे कोई चौंकाने वाला अंतर नहीं दिख रहा है। भारत में कुछ समय से रिटेल बैंकिंग में अच्छी कस्टमर ग्रोथ दिखी है। हालांकि, इस दौर में सतर्क रहने की जरूरत है। बैंकों को वैसे ग्राहकों पर ध्यान देना चाहिए, जिनकी क्रेडिट रेटिंग बढ़िया है। हालांकि, हम रिस्क आर्बिट्राज को मैनेज करने वाले बिजनस में हैं और जब तक रिस्क-रिवॉर्ड ट्रेड ऑफ पॉजिटिव बना रहता है, हमारे जैसे बैंक नए रिटेल कस्टमर्स पर इन्वेस्ट करना जारी रखेंगे।

नोटबंदी से क्या नए कस्टमर्स हासिल करने का खेल बदल गया है?
इसका पॉजिटिव असर हुआ है। एक ओर क्रेडिट ब्यूरो मजबूत हो रहे हैं, लेकिन कस्टमर्स डिजिटल चैनलों की ओर ट्रांजैक्शंस के लिए जा रहे हैं। इससे हमारे लिए इन कस्टमर्स के फ़ाइनैंशल बिहेवियर की ज्यादा जानकारी हासिल करने का मौका पैदा हुआ है। कई अन्य अंडरराइट क्रेडिट के प्रयोग कर रहे हैं और ये अन्य संबंधित डेटा का इस्तेमाल कर रहे हैं। कंज्यूमर बिहेवियर को समझने का मौका सरोगेट्स या सेकंडरी डेटा के मुकाबले रियल डेटा के संबंध में कहीं ज्यादा व्यापक है। इससे हमें नए रिटेल कन्ज़्यूमर्स को अंडरराइट करने का बड़ा मौका मिल रहा है।

नए क्रेडिट कस्टमर्स के बारे में आपकी क्या राय है? इन कस्टमर्स को हासिल करने के लिए बैंक की क्या योजना है?
हम सोशल मीडिया बिहेवियर के आधार पर अंडरराइट करने पर काम कर रहे हैं और हमने पायलट प्रॉजेक्ट शुरू कर दिया है। एक बैंक के रूप में हमारे पास कस्टमर्स के पूरे वॉलिट की जानकारी है। हम खर्च के सोर्स देखते हैं, हमें भविष्य की घटनाएं दिखाई दे रही हैं।

बैंक का क्रेडिट कार्ड बिजनस कैसा चल रहा है?
औसतन हमारे कस्टमर्स मार्केट के प्रति कार्ड खर्च करने से 1.5 गुना ज्यादा खर्च करते हैं। हम पार्टनरशिप मजबूत करने के लिए इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं। ये नए एक्विजिशंस और मार्केट शेयर बढ़ाने का जरिया साबित होंगे। गुजरे दो सालों में हमने जितने कस्टमर्स हासिल किए हैं, उससे कहीं ज्यादा कस्टमर्स अब हमें मिल रहे हैं। ओवरऑल बिजनस अच्छा है।

आपका अनसिक्योर्ड लेंडिंग पोर्टफोलियो कैसा चल रहा है?
अनसिक्योर्ड लेंडिंग बिजनस डबल-डिजिट में बढ़ रहा है। हमारा रिस्क मैनेजमेंट भी अच्छा है।

डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन ने बैंक के कस्टमर्स के साथ कामकाज पर कैसा असर डाला है?
अकाउंट बैलेंस, रिवॉर्ड पॉइंट्स और फंड ट्रांसफर कस्टमर्स को सेल्फसर्विस के तौर पर दी जा रही है। इनमें वर्चुअल असिस्टेंट्स, पोस्ट लॉग-इन, ई-चैट्स के जरिए काम होता है। हमें फिजिकल मौजूदगी बढ़ाने की जरूरत नहीं है क्योंकि फ्यूचर ग्रोथ डिजिटल तौर-तरीकों से हासिल होगी।

अन्य बैंक आपके वेल्थ मैनेजमेंट बिजनस को हड़पना चाहते हैं। आप अपने बिजनस को बचाने के लिए क्या कर रहे हैं?
हमने एक नेक्स्ट-जनरेशन प्लेटफॉर्म, हेलो, लॉन्च किया है। इसे हमने सिटी मोबाइल ऐप से इंटीग्रेट किया है और यह क्लाइंट्स को न केवल रिलेशनशिप मैनेजर से तत्काल कनेक्ट करता है, बल्कि यह एक्सपर्ट्स की एक टीम से भी उन्हें इन ऐप चैट्स, ऑडियो और विडियो कॉल्स के जरिए कनेक्ट करता है। कस्टमर्स रियल टाइम इन्वेस्टमेंट ट्रांजैक्शंस कर सकते हैं और इन्वेस्टमेंट एक्सपर्ट्स को इनवाइट कर सकते हैं। इससे हमारे वेल्थ मैनेजमेंट को रफ्तार मिलेगी क्योंकि हमें प्रति रिलेशनशिप मैनेजर प्रतिमाह इसके तीन गुना तेजी से बढ़ने की उम्मीद है।

Plot avilable in lucknow call @7007179405
Project Name-: New SITE
Project Details -:
Location-Gomtinagar Extension which is approximately 1.5 kms from amity university
Near Malhour railway station (deoria villege)
Project size- 12 Bigha.
Plot Rate- Rs 900/sq ft.
More Info.. http://newhutinfra.in/project.php
Project Name-: Vision Green City
Project Details -:
Location- Vision green city at Lucknow Faizabad Highway
Project size - 70 Bigha.
Plot Rate- Rs 599/sq ft.
More Info.. http://newhutinfra.in/projectvg.php

No comments:

Post a Comment